सन्तुलित आहार आपके स्वस्थ और ऊर्जावान जीवन की
प्रमुख आवश्यकता है ।
हमेशा करें स्वस्थ्य आहार का सेवन, श्रेष्ठ आरोग्य रहे हर क्षण।
आहार संबंधी इन सभी जिज्ञासाओं का समाधान केन्द्र है:- ‘आहार क्लीनिक‘ ।

''अर्चना नेमानी आहार-क्लीनिक'' आप का स्वागत करता है ।

सन्तुलित आहार आपके स्वस्थ और ऊर्जावान जीवन की प्रमुख आवश्यकता है । इसके महत्व का उल्लेख प्राचीन ग्रन्थों, वेद-पुराणों एवं सभी धर्म-दर्शन में पाया जाता है । आधुनिक समय में सन्तुलित आहार की आवश्यकता उन्नत वैज्ञानिक शोध एवं पोषण-विज्ञान से प्रमाणित है । विज्ञान कहता है कि ‘‘यदि आपका आहार गलत है, तो दवायें आपके किसी काम की नहीं है और यदि आपका आहार सही है, तो आपको दवाओं की कोई आवश्यकता नहीं है । आयुर्वेंद में लिखा गया है कि “प्राणः प्राण भूतानाम अन्न” अर्थात् प्राणियों में प्राण मूलतः आहार ही होता है । आरोग्य की प्राप्ति के लिए व्यक्ति को प्रतिदिन हितकारी आहार का सेवन करना नितान्त आवश्यक है ।
अधिक जानें

हम आपको उचित आहार जागरूकता देते हैं

क्या कब, कितना और कैसे खायें ?

हम क्या खाते है? कितना खाते है? किस प्रकार का खाते है? किस वक्त क्या खाते है? इन सभी बातों का हमारे शरीर पर बहुत गहरा असर पड़ता है। अगर इन बातों के बीच समतोल नहीं रखा जाए, तो इसके विपरीत परिणाम हमारे शरीर को भुगतना पड़ता है। आप जैसा खाते है, वैसे ही होते हैं।

गर्भावस्था में संतुलित भोजन क्या हो ?

गर्भवती महिलाओं के साथ अक्सर ये समस्या रहती है, कि वे क्या खाएॅ, क्या न खाएॅ, किस आहार को पौष्टिक समझें? जच्चा-बच्चा दोनों के हष्ट-पुष्ट रहने के लिए सही आहार की जानकारी होना बहुत जरूरी होता है। जिंदगी मंे रहना है, खुशहाल, तो रखे गर्भावस्था में आहार का ख्याल।

मोटापा कैसे कम करें ?

आपका वजन आपके द्वारा आपकी शारीरिक गतिविधियों में खर्च ऊर्जा और आपके द्वारा खाने में ली जा रही ऊर्जा के बीच का एक बेहतरीन संतुलन है। हमारे द्वारा सुझाई गई आहार-तालिका का पालन करने से, आपके शरीर में इकट्ठी चर्बी आपके शरीर के ऊर्जा प्रदान करने लगती है। फलस्वरूप आपका वजन कम होने लगता है।

स्वस्थ और ऊर्जावान कैसे रहें ?

आप दिन भर कितने स्फूर्तिवान रहेंगे, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने दिन की शुरूआत किस प्रकार के पौष्टिक पदार्थ से की है। आपका स्वस्थ्य और ऊर्जावान् होना आपकी दिनचर्या में शामिल आहार पर ही निर्भर करता है। स्वस्थ्य संतुलित हो आधार, एनर्जी दे शरीर को अपार।

बीमारियों में कैसे व क्या खायें ?

बिमारियांे से दूर रहने के लिए, रोग-प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना जरूरी होता है। बदलते हुए मौसम में किन चिजों का सेवन करें, किन से बचें। रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु सही भोजन के प्रति सजगता जरूरी है।

वृद्धावस्था में आहार कैसा हो ?

वृद्धावस्था में क्रियाशीलता बनी रहें, किसी पर निर्भर न होना पड़े, इसके लिए भोजन में सजगता बहुत जरूरी है। नियमित समय पर, सही मात्रा में, सही भोजन क्या हो? जिससे चुस्त, सेहतमंद और आरोग्य रहें, यह वृद्धावस्था की प्रथम जरूरत हैं। बाहर का भोजन कम करें, घर का भोजन ग्रहण करें।

हमारे विजेता क्या कह रहे हैं

मेरा वजन 18.5 कि0ग्रा0 कम हुआ। आहार क्लीनिक पर जाने से पहले मेरा वजन 85.5 कि0ग्रा0 था। मैं बैडमिंटन का दो गेम खेलने में थक जाता था। मेरा कमर 38‘‘ था। मैं सीढ़ी चढ़ने मंे हाॅफने लगता था। आहार क्लीनिक के डायट-प्लान का पालन करने के बाद मेरा वजन 67 कि0ग्रा0 हो गया। कमर 31‘‘ हो गया। अब मैं बैडमिंटन में 5-6 गेम लगातार खेल लेता हूॅ। मेरे सहयोगी थक जाते है, मैं नहीं। अब मुझे थकावट या कमजोरी का एहसास नहीं होता। डायटिशियन अर्चना नेमानी द्वारा दिया गया डायट प्लान-पालन करने मंे आसान और रूचिकर भी होता है।

विजय पोद्दार

मैं श्याम रूंगटा, बेतिया चम्पारण, बिहार का निवासी हूँ। मेरा वजन 97 किलोग्राम था, और बहुत सारी बीमारियों से परेशान था। अर्चना नेमानी आहार-क्लीनिक ने मुझे नवजीवन प्रदान किया। उनकी देख-रेख में मैंने 9 माह में 32 किलोग्राम वजन कम किया है। मैं उनका बहुत शुक्रगुजार हूँ।

श्याम रूंगटा

आहार क्लीनिक ज्वायन करने के बाद मेरे स्वास्थ्य में अभूतपूर्व बदलाव आया है। पहले मैं ओवरवेट ही नहीं बल्कि मोटापा से भी ग्रसित थी। एक माह में ही मेरा वजन कम होने लगा। डायटीशियन अर्चना नेमानी के डायट प्लान का ठीक से पालन करने पर वजन कम होना ही है। हम सभी जानते है कि ‘हेल्थ इज वेल्थ’।

दीपिका श्रीवास्तव

मेरी उम्र 39 साल, लम्बाई 5.7‘‘ और वजन 65 कि0ग्रा0 था। अचानक से कुछ दिनों से कमजोरी, थकान महसूस होनी शुरू हुई। मेरा ब्लड शुगर लेवल फास्टिंग-143 और पी0पी0-247 पाया गया। मैं बहुत चिंतित हुआ। मैंने डायटिशियन अर्चना नेमानी जी से संपर्क किया और उनके द्वारा दिए गए 15 दिनों में ही मुझे इनर्जी वापस मिलने लगी और थकान, सुस्ती खत्म होने लगी। 01 माह बाद मेरा वजन 62.5 कि0ग्रा0 और शुगर लेवल आइडियल आ गया। मैं आहार-क्लीनिक का बहुत-बहुत धन्यवाद करता हूॅ, कि उन्होंने मेरे लाइफ-स्टाइल में बदलाव करवाया और खान-पान द्वारा शुगर नियंत्रित करना सिखाया।

अमर

मैं आशा, डायबिटिज, थायराईड, ब्लडप्रेशर एवं हार्टडिजिज से पीड़ित थी। मेरा वजन भी ज्यादा था। मुझे दिन में चार समय इन्सुलिन लगता था। डायटिशियन अर्चना जी से डाइटप्लान लेने के उपरान्त मुझे इन्सुलिन लगना पुर्णतः बंद हो गया है, एवं मेरा वजन 18 से 19 किलोग्राम कम हो गया। मेरे स्वास्थ्य में इनके डाइटप्लान से काफी फायदा पहुॅच रहा है। अतः मैं अब बहुत खुश हूँ।

आशा पुरोहित

मेरा नाम अजय कुमार पाण्डेय है। मेरा वजन तीन माह पहले 117.700 किलोग्राम था। आज 95.700 किलोग्राम है। मैं, अर्चना नेमानी आहार क्लीनिक का इस कार्य के लिए आभार प्रकट करता हूॅ।

अजय पाण्डेय

नवीनतम लेख

आपका आहार आपके लिए काम करें